ये जो कु ….

ये जो कुल्फी चूसते हुए एक हथेली कुल्फी के नीचे लगाए रहते हैं, न





इसे ही गीता में श्रीकृष्ण ने मोह बताया है।



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *